नॉर्मल डिलीवरी के लिए कौन से योग करें ?

नॉर्मल डिलीवरी के लिए कौन से योग करें ?

नमस्ते दोस्तों, आज हम आपको नॉर्मल डिलीवरी के लिए कौन से योग करें के बारे में जानकारी देने वाले हैं | हम देखते हैं कि हर महिला का सपना होता है कि हमें जिंदगी में एक बार गर्भवती रहना है, लेकिन कई बार जवान लड़कियां जब सोचती है कि गर्भवती होने के बाद हमें सिज़ेरियन करना पड़ता है तब जवान लड़कियां पूरी तरह से डर जाती है | लेकिन जो लड़कियां नॉर्मल डिलीवरी होती है उन लड़कियों को सीजेरियन डिलीवरी के मुताबिक कम समस्या आती है | देखा जाए तो हर महिला को लगता है कि हम नॉर्मल डिलीवरी के जरिए बच्चे को जन्म देंगे लेकिन यह बात पूरी तरह से महिला के स्वास्थ्य पर और बच्चे के स्वास्थ्य पर निर्भर होती हैं |

नॉर्मल डिलीवरी के लिए कौन से योग करें

नॉर्मल डिलीवरी के लिए कौन से योग करें

क्योंकि बच्चा अगर नॉर्मल डिलीवरी के लिए रेडी है तो आसानी से महिला की योनि से बच्चा बाहर निकलता है, लेकिन महिला अगर नॉर्मल डिलीवरी के लिए परिपक्व नहीं है तो महिला का सिजेरियन करना पड़ता है | इसलिए आज हम आपको नॉर्मल डिलीवरी के लिए कौन से योग करें के बारे में जानकारी देने वाले हैं |

नॉर्मल डिलीवरी के लिए कौन से योग करें -:

नॉर्मल डिलीवरी के लिए असरदार योगासन -:

  • प्रेगनेंसी की सारी जटिलताओं को कम करने के लिए महिलाएं सारे तरीके इस्तेमाल करती है, लेकिन महिला का शरीर अगर नॉर्मल डिलीवरी के लिए तैयार नहीं है तो महिला को सिजेरियन डिलीवरी के जरिए ही डिलीवरी की जाती है | हम आपको नॉर्मल डिलीवरी के लिए सारे असरदार योगासन बताएंगे जिनका इस्तेमाल करने से आपको नार्मल डिलीवरी हो सकती है |
  • नॉर्मल डिलीवरी के लिए वक्रासन, कोणासन, उत्कटासन यह सारे आसन बहुत ही लाभकारी होते है | वक्रासन करते समय अपने बाएं पैर को मोड़े और दाएं पैर को सीधा रखें,सैल छोड़ें और कमर को आराम से मुड़ते हुए गर्दन को बाई और घूमाए | यह आसन करते समय सांस लगातार लेते रहे और थोड़े वक्त के बाद फिर से पुरानी अवस्था में आए |
  • बहुत सारी महिलाएं नॉर्मल डिलीवरी के लिए कोणासन की मदद लेती है, कोणासन करने के लिए सबसे पहले सीधा खड़े हो जाए | अब अपने पैरों को जितना संभव हो उतना खोले, दोनों हाथों को अपनी आंखों के पास रखें और दाएं हाथ को ऊपर की ओर उठाएं | कोणासन करते समय सांस लेते रहे और शरीर को यह क्रिया करने के बाद फिर से सीधा करें जिससे जांघों की सारी मांसपेशियां सीधी होगी और नॉर्मल डिलीवरी होने में मदद मिलेगी |

नॉर्मल डिलीवरी के लिए उत्कटासन और पर्यान्कासन करे -:

नॉर्मल डिलीवरी के लिए उत्कटासन और पर्यान्कासन करे

नॉर्मल डिलीवरी के लिए उत्कटासन और पर्यान्कासन करे

  • देखा गया तो हर महिला को उत्कटासन कैसे करते हैं यह मालूम होता है | उत्कटासन करने से पहले ताड़ासन में खड़े हो जाएं, अब हथेलियां एक दूसरे के सामने ले और पैरों को थोड़ा खोल कर घुटनों में मोड़ दे जिस तरह हम कुर्सी पर बैठते हैं उसी तरह नीचे बैठ जाए और यह क्रिया दोबारा करते रहे यह आसन करते समय किसी ट्रेनर के सहायता ले |
  • जिन महिलाओं को सचमुच लगता है कि बच्चे को जन्म हम नॉर्मल डिलीवरी के जरिए ही देंगे उन महिलाओं ने रोजाना प्रियंका आसन करना चाहिए, क्योंकि यह आसन महिलाओं के पैरों को पूरी तरह से सक्षम बनाता है | जब तक महिलाओं की कमर और महिलाओं के पैर सक्षम नहीं बनते हैं तब तक महिला नॉर्मल डिलीवरी के लिए तैयार नहीं होती है | जिन महिलाओं को योगासन करते नहीं आता है उन महिलाओं ने प्रशिक्षक की मदद लेनि चाहिए |

नॉर्मल डिलीवरी का योग अभ्यास करते समय पर्वतासन और कोणासन भी करें -:

नॉर्मल डिलीवरी का योग अभ्यास करते समय पर्वतासन और कोणासन भी करें

नॉर्मल डिलीवरी का योग अभ्यास करते समय पर्वतासन और कोणासन भी करें

  • पर्वतासन और कोणासन करते समय अपनी जांघों को मजबूत रखें, कई बार महिलाएं जांघों को लचीला छोड़ देती है जिसके कारण जांघों पर प्रेशर आकर जांघों में चोट हो सकती है | कोणासन करने से आपके निचले क्षेत्र में रक्त परिसंचरण बहुत बढ़ जाता है, जिसके कारण नार्मल डिलीवरी करने में मदद मिलती है |
  • नार्मल डिलीवरी करने के लिए पर्वतासन करते समय सीधा बैठे और दोनों हाथों को जोड़ दें | अपनी कोहनी एकदम सीधी रखें, आप दोनों हाथों को कान के पास ले जाएं और कुछ सेकंड के लिए यह अवस्था बरकरार रखने के बाद फिर से पुरानी अवस्था में लौट जाएं | यह क्रिया आपको दिन भर में १०-१५ बार करनी होगी जिससे कमर की मांसपेशियों स्ट्रेच होगी और कमर दर्द से राहत मिलेगी |

नॉर्मल डिलीवरी के लिए योग करते समय इन बातों को ध्यान में रखें -:

नॉर्मल डिलीवरी के लिए योग करते समय इन बातों को ध्यान में रखें

नॉर्मल डिलीवरी के लिए योग करते समय इन बातों को ध्यान में रखें

  • नॉर्मल डिलीवरी के लिए जब आप योग साधना करते हो तब अपने शरीर के अनुसार ही योग वर्कआउट की तीव्रता बढ़ाएं | अगर आपका शरीर ज्यादा योग वर्कआउट करने में सक्षम नहीं है तो किसी प्रशिक्षक की मदद ले |
  • योग अभ्यास करते समय किसी भी तरह का तनाव अगर महसूस होता है तो सांस ज्यादा ले, कई बार योग साधना करते समय चक्कर आने लगते हैं, नींद आने लगती है ऐसा होने पर थोड़ी देर के लिए रुक जाए | नॉर्मल डिलीवरी के लिए योग करते समय पीछे झुकने वाले आसन बिल्कुल ना करें क्योंकि महिलाओं की मुलायम पिगमेंट्स को चोट पहुंच सकती है |

यह थी नॉर्मल डिलीवरी के लिए कौन सा योग करें के बारे में जानकारी |

महिला के पेट में गर्भ ठहरने के लक्षण

गर्भवती महिला के लिए सेक्स करने की सबसे बेस्ट पोजीशन

Updated: September 16, 2018 — 4:13 pm

The Author

Ganesh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देसी घरेलु नुस्खे © 2018